बाबा बालक नाथ दियोटसिद्ध आस्था और श्रद्धा का मन्दिर।


बाबा बालक नाथ दियोटसिद्ध मन्दिर आस्था और श्रद्धा को वो मन्दिर है जहाँ सच्चे दिल से मांगी मुराद हमेशा पुरी होती है। यहाँ पर दुनियाँ के हर कोने से लोग आते हैं और अपने मन की मुराद पूरी करते हैं। बाबा बालक नाथ जी का जन्म गुजरात में हुआ और वहाँ से चलते चलते शाहतलाई पहुंच गए। और वहीं से बाबा बालक नाथ जी के चमत्कारों की कहानी शुरू हुई और वहाँ के लोगों ने बाबा बालक नाथ जी की महीमा को पहचाना। बाबा बालक नाथ जी ने शाहतलाई में रत्नो देवी के घर रहकर 12 सालों तक उनकी गउओं को चराया करते थे और बड़ वृक्ष के नीचे शिव भगवान की भक्ति किया करते थे परन्तु भैरो नाथ की परीक्षा के बाद वहाँ के लोगों की बाबा बालक नाथ जी के प्रति श्रद्धा और भी बड़ गई। इसके बाद बाबा बालक नाथ जी शाहतलाई से ठीक 4 किलोमीटर दूर एक पहाड़ की गुफा में भक्ति में लीन हो गए जिस जगह को आज दियोटसिद्ध के नाम से जाना जाता है।

हमने यहाँ पर दियोटसिद्ध और शाहतलाई की कुछ फोटो दिखाई है जिन्हे देखकर आप समझ सकते है की दियोटसिद्ध कितना भव्य मन्दिर है।



jitendersharma.com baba balak nath photo jitendersharma.com baba balak nath photo
jitendersharma.com baba balak nath temple photo jitendersharma.com baba balak nath temple photo

बाबा बालक नाथ जी फिल्म

बाबा बालक नाथ जी गाने


87.5Overall Score
क्या जानते हैं आप बाबा बालक नाथ जी मन्दिर के बारे में।

आप अपने विचार लिखें।

  • क्या आप बाबा बालक नाथ जी मन्दिर गए हैं।
    80
  • क्या आप बाबा बालक नाथ जी मन्दिर की कमेटी की सुबिधाओं से संतुष्ट हैं।
    95

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>